Digital clock

Sunday, 19 April 2009

तेरे पास आकर...





सारी जिंदगी सिमट जाती है तेरे आगोश में आने के बाद। जी हां, प्यार में लिपटी हुई रिलेशनशिप जन्नत का एहसास कराती है लेकिन इसका आधार संपूर्ण सेक्स पर होता है। रिलेशनशिप का सबसे अहम पार्ट होता है सेक्स। सेक्स करते समय हमेशा यही दिमाग में रहता है या फिर अपने पार्टनर से पूछा जाता है कि क्या सही है और क्या गलत? आप जब एक-दूसरे के साथ प्ले करते है तो कम्पलीट सेटिसफेक्शन मिलना भी जरूरी है इसके लिये कुछ सिम्पल टिप्स। - सेक्स की शुरूआत करने से पहले अपने आपको रिलेक्स करना बेहद जरूरी है, क्योंकि यह आपके एंज्वॉयमेंट का पार्ट है। इसीलिये अपनी चिंता, परेशानी, और गुस्से को बेडरूम के बाहर ही छोड़कर आये, छोड़ दीजिये काम के बारे में सोचना,फेमिली प्रॉब्लम्स को। बॉथ लेकर रिलेक्स को प्ले के लिये। - अपने पिछले अच्छे दिनों को सोचिये और अपनी उत्तेजना को जागृत करें। इसके लिये आप मूवीज, म्यूजिक और बुक्स का सहारा लें सकते है। - अपने आपसे खेलने का मजा भी कुछ और ही होता है। टच योर स्किन, योर मैन पार्ट्स और पूरी बॉडी। खेलते समय आपके हाथ की मूवमेंंट में भी एक कशिश होनी चाएि और वेराइटी भी। जैसे पुल करना, पिंच करना, रब करना आदि। इसके लिये मार्केट मे बॉडी वाइब्रेट्रर भी मिलते है जिन्हें इस खास मौके पर यूज किया जाता है। इस वाइब्रेट्रर के साथ पूरी बॅाडी पर प्ले करें। - प्ले विद् ए बॉडी के साथ आप दोनों अपने में टोटल एंज्वॉय करें और साथ ही जब ऐसा लगे कि अब डीप प्ले के तैयार है तो शुरू करें लेकिन किस पोजीशन से शुरूआत करना चाहते इसके लिये राय जरूर लें। अक्सर माना गया है कि बैक एरिया से की गई शुरूआत लॉंग लास्टिंग होती है। इसके बाद धीरे से हिप बैक एरिया के साथ रबिंग करते हुए प्ले करें। - प्ले करते समय किसी भी तरह की जल्दबाजी न करें। सांसों का खेल भी जरूरी है। जी हां, गहरी सांस भरें उसे रोकें और छोड़े। गहरी सांस भरने के बाद मेन पार्ट सेटिंग पोजीशन में आ जाता है । इसीलिये आपकी बॉडी और सांस भी तालमेल होना भी बेहद जरूरी होजाता है। - इस पोजीशन में आने के बाद अपने आपको गुस्से में न आने दें कि क्यों नहीं हो रहा आदि। अपने आपको और साथी दोनों को सपोर्ट करें। यदि शुरूआत में कुछ नहीं होता तो दूसरी बार अपनी पोजीशन को बदल सकते है। सेक्स करते समय यदि छोटी-छोटी बातों को भी ध्यान में रखा जाये तो आसानी से उसको एंज्वॉय किया जा सकता है।

No comments:

Post a Comment